शादी की सालगिरह पर पत्नी ले आई फूलों का हार जबकि पति लाया ज़हर में डूबा हुआ चॉकलेट और फिर…


यहाँ के विरसानगर में सोमवार रात को एक ठेकेदार ने ऐसा काम किया, जिससे एक ही रात में उसका पूरा परिवार ख़त्म हो गया। आपको बता दें 39 साल के निशांत वैभव ने आत्महत्या कर लिया, साथ ही अपनी पत्नी पूर्णिमा और 6 साल के बेटे अक्षत को भी चॉकलेट में ज़हर मिलाकर दे दिया। मंगलवार को निशांत वैभव के शादी की सालगिरह थी। इसके लिए निशांत की पत्नी अपने पति को देने के लिए सात फूलों का एक गुलदस्ता और दो हार लायी थी। उसने सभी को फ्रिज में रख दिया था।

1. बेड पर पड़ी थी बहुत और पोते की लाश:

जबकि निशांत ने पहले ही आत्महत्या की सारी तैयारियां कर ली थी। उसके मरने के बाद सुबह दरवाजा खोलने में किसी को कोई परेशानी ना हो, इसलिए उसने अन्दर से दरवाजा बंद करने की बजाय वहां पर सोफा लगा दिया था। निशांत की माँ ने बताया कि जब वह सुबह अपने पोते को जगाने के लिए गयी और दरवाजा खोलने लगी तो सोफे की वजह से दरवाजा नहीं खुल रहा था। लेकिन जब धक्का देकर खोला तो दरवाजा खुल गया और वह अन्दर का नज़ारा देखकर हैरान रह गयी। अन्दर बेड पर बहू और पोते की लाश पड़ी हुई थी।

2. आखिरी पलों में माँ-बेटे देख रहे थे एक दुसरे को:

जब वह दूसरे कमरे में गयी तो वहां बेटा निशांत पंखे से झूलता हुआ दिखाई दिया। यह देखकर माँ की सांसे थम गयी। माँ और बेटे एक ही कमरे में मृत पाए गए। दोनों का चेहरा एक दुसरे की तरफ ही था। ऐसा लग रहा था कि दोनों आखिरी पलों में एक दुसरे को देख रहे थे। शव को इस हालत में देखकर वहां पहुंचे कई लोगों की आँखें भर आई। निशांत का इकलौता बेटा अभी मात्र 6 साल का था और यूकेजी में पढ़ता था। बेड पर माँ की तरफ ज़हर में डूबा हुआ आधा चॉकलेट रखा हुआ था।

आगे की जानकारी के लिए निचे क्लिक करे….


Like it? Share with your friends!

शादी की सालगिरह पर पत्नी ले आई फूलों का हार जबकि पति लाया ज़हर में डूबा हुआ चॉकलेट और फिर…

1 / 2Next

log in

reset password

Back to
log in